अभिव्यक्ति की अनुभूति / शब्दों की व्यंजना / अक्षरों का अंकन / वाक्यों का विन्यास / रचना की सार्थकता / होगी सफल जब कभी / हम झांकेंगे अपने भीतर

रविवार, 11 अक्तूबर 2015

रामोजी फिल्म सिटी में एक दिन

हैदराबाद से 25 किलोमीटर दूर नल्गोंडा मार्ग पर स्थित रामोजी फिल्म सिटी का अवलोकन यादगार रहा| दक्षिण भारत के विख्यात फिल्म निर्माता और मीडिया ग्रुप संचालक रामोजी राव ने वर्ष 1996 में इसकी स्थापना की थी| दो हजार एकड़ से भी अधिक क्षेत्रफल में विस्तृत इस आउटडोर इनडोर फिल्म सिटी में पचास शूटिंग फ्लोर हैं| यहां एक साथ पच्चीस फिल्मों की शूटिंग संभव है| प्री प्रोडक्शन से लेकर पोस्ट प्रोडक्शन तक सभी आधुनिक उपकरण,साधन सुविधाएँ उपलब्ध हैं| यहां पांच सौ से अधिक सेट लोकेशन हैं| एयरपोर्ट, रेलवे स्टेशन, सेन्ट्रल जेल, गाँव शहर के लोकेशन वाले विविध स्थाई सेट,चीन, यूरोप और देश के प्रमुख शहरों के बगीचों की अनुभूति कराने वाले गार्डन आदि मनमोहक हैं| रामोजी ग्रुप की इकाई उषा किरण मूवीज़ लिमिटेड ने हॉलीवुड की तर्ज पर इस फ़िल्म सिटी को साकार किया है| गिनीज वर्ल्ड रिकॉर्ड्स में दर्ज यह विश्व का सबसे बड़ा फ़िल्म स्टुडियो कॉम्पलेक्स माना जाता है| पर्यटन स्थल बतौर भी विकसित होने के कारण यहां हर वर्ष दस लाख से भी अधिक लोग आते हैं| गाइड के नेतृत्व में रेड विंटेज बस से फ़िल्म सिटी का भ्रमण आनंददायक और ज्ञानवर्धक होता है| एक्शन थियेटर, फ़िल्मी दुनिया, बोरासुरा मैजिशियन वर्कशॉप, बर्ड पार्क, यूरेका, स्प्रीट ऑफ रामोजी,फोर्ट फ्रंटियर स्टंट शो, लाइट कैमरा एक्शन, दादाजी लाइव टीवी शो, नृत्य प्रस्तुति सहित विविध राइड पर्यटकों को लुभाते हैं| लेकिन फिल्मों की शूटिंग के दरम्यान सेट पर पर्यटकों के जाने पर सख्त मनाही है| उसके बावजूद हर पर्यटक भ्रमण के बाद सुखद अनुभूति के साथ लौटता है|
_ दिनेश ठक्कर बापा

एक टिप्पणी भेजें