अभिव्यक्ति की अनुभूति / शब्दों की व्यंजना / अक्षरों का अंकन / वाक्यों का विन्यास / रचना की सार्थकता / होगी सफल जब कभी / हम झांकेंगे अपने भीतर

गुरुवार, 20 जून 2013

चुभता एक नश्तर

सोमनाथ के समुद्र तट पर
आस्था की लहरों से सराबोर
आस्तिक थपेड़ों से तरबतर
फिर भी चुभता एक नश्तर
इंसान बेहतर या जानवर
किसका व्यवहार बेहतर
नन्दीश शंकर ही देंगे प्रत्युत्तर

(फोटो : श्रीमती प्रीति ठक्कर) 


एक टिप्पणी भेजें