अभिव्यक्ति की अनुभूति / शब्दों की व्यंजना / अक्षरों का अंकन / वाक्यों का विन्यास / रचना की सार्थकता / होगी सफल जब कभी / हम झांकेंगे अपने भीतर

सोमवार, 26 मार्च 2012

किताब "जला सो अल्लाह" के लोकार्पण समारोह की रपट

बिलासपुर. "हिन्दी साहित्य में संत परम्परा और उनकी जीवनी पर केन्द्रित साहित्य का इस दौर में अभाव बना हुआ है. दिनेश ठक्कर लिखित संत जलाराम बापा पर पुस्तक "जला सो अल्लाह" (सन्त जलाराम बापा की जीवन-कथा) इस कमी को पूरी करती हुई एक कृति है". उक्त वक्तव्य रविवार, २५ मार्च को दोपहर दो बजे बिलासपुर प्रेस क्लब में वरिष्ठ पत्रकार और साहित्यकार श्री सतीश जायसवाल ने "जला सो अल्लाह" के लोकार्पण समारोह के दौरान मुख्य अथिति की आसंदी से व्यक्त किये. श्री जायसवाल ने आगे कहा "श्री दिनेश ठक्कर ने चार दशकों की पत्रकारिता के बाद साहित्य के क्षेत्र में कदम रखा है". लोकार्पण समारोह की अध्यक्षता करते हुए पिछड़ा वर्ग आयोग के अध्यक्ष श्री सोमनाथ यादव ने इस अवसर पर कहा "संतों की जीवनी का व्यक्ति के मानस पर गहरा असर पड़ता है. उन्होंने स्वयं सौराष्ट्र की यात्रा के दौरान संत जलाराम बापा की जन्म और कर्म स्थली वीरपुर में जाकर दर्शन लाभ लिया है". समारोह में दैनिक भास्कर के उप सम्पादक श्री यशवंत गोहिल ने संत जलाराम की सेवा भावना का उल्लेख करते हुए कहा "उनका दाम्पत्य जीवन दीन दुखियों की की सेवा में सदैव समर्पित था. बापा संत महात्माओं की सेवा में सदैव आगे रहते थे". उन्होंने जलाराम बापा द्वारा भगवान् श्री राम स्वरुप एक महात्मा को अपनी धर्म पत्नी वीर बाई के दान का प्रसंग भी उल्लेखित किया. वरिष्ठ पत्रकार और प्रेस क्लब के पूर्व अध्यक्ष श्री ज्ञान अवस्थी ने भी कहा "संत साहित्य का प्रकाशन समाज को एक नयी दिशा देता है. श्री ठक्कर की कृति इसका एक जीवंत उदाहरण है.' इसके पहले बापा पब्लिकेशन से प्रकाशित श्री ठक्कर की पहली पुस्तक "जला सो अल्लाह" का विधिवत लोकार्पण श्री सतीश जायसवाल के करकमलों से हुआ. श्री ठक्कर ने स्वयं अपनी पुस्तक के प्रमुख अंशों का पठन किया. श्री ठक्कर ने जलाराम बापा के जीवन दर्शन की व्याख्या करते हुए कहा "बापा ने दरिद्र नारायण की सेवा को ही प्रभु भक्ति माना और अपना सम्पूर्ण जीवन इसी सेवा भावना को समर्पित कर दिया. खुद भूखे रहकर दूसरों का पेट भरना उनका प्रमुख सिद्धांत था. वे रोटी में राम के दर्शन करवाते थे". लोकार्पण समारोह में प्रेस क्लब के वरिष्ठ उपाध्यक्ष कमलेश शर्मा, निर्मल मानिक, सुब्रत पाल, राजीव दुआ, मनोज राय, रितेश शर्मा, सुनील शर्मा, दिलीप जगवानी, श्रीचंद मखीजा, मनोज सिंह ठाकुर, मोहन सोनी, पवन सोनी, जितेन्द्र रात्रे, जितेन्द्र ठाकुर, द्विवेंदु सरकार सहित समाचार पत्र और साहित्य जगत के अनेक लोग उपस्थित थे. समारोह का ओजस्वी संचालन वरिष्ठ पत्रकार कमल दुबे और आभार प्रदर्शन राजेश दुआ ने किया.                   
एक टिप्पणी भेजें